Author: Anupama

Home /

Hindi Shayari बंद आँखों में ख़्वाब सा..वो बनकर खार गड़ जाता खुली आँखों का जिस चेहरे से रिश्ता बन नहीं पाता कहाँ मंज़ूर था उसे..मेरे नज़र खाने…

Hindi Shayari प्यार के बाज़ार में आना जाना सीखिए दर्द महेंगा है यहाँ..क़ीमत लगाना सीखिए उनके दामन में सिमटकर..भीग जाने दे पलक मुस्कुराकर ज़रा..आँसू बहाना सीखिए जीत…

1 2 12