Home / Sad Shayari / Hindi Shayari – आँखों से रूह तक का../ Aankhon se rooh tak ka..

Hindi Shayari – आँखों से रूह तक का../ Aankhon se rooh tak ka..

/
/
/
84 Views

Hindi Shayari in Hindi

आँखों से रूह तक का..तूने बड़ा लंबा सफ़र तय किया
और अब आते ही जाने की ज़िद पकड़े बैठा है
लौट सके मेरी ज़िंदगी से..इसी फिराक़ में हरदम रहता है
कुछ पल तो चैन के मेरे मॅन में गुज़ार..

इतना तो वक़्त दे के तेरा सारा सामान अपने मॅन से समेट सकूँ
एक आखरी बार अपनी खुशियों को..भर नज़र देख सकूँ
बस कुछ और वक़्त अपना..मुझे तू दे दे उधार..

गिन-गिनकर ले जाना तू अपनी हर चीज़
इस आने जाने की जल्दी में..कहीं तेरा कुछ यहाँ छूट ना जाए
वही फिर वापस लेने के बहाने..तू दोबारा यहाँ लौट ना आए
इसी बहाने..मुझे भी करना पड़ेगा..तेरा इंतज़ार..

अब ना दूँगी तुझे लौटने का कोई बहाना
और खुद को तेरे इंतज़ार की कोई वजह..

 

Hindi Shayari in English

Aankhon se rooh tak ka..tune bada lamba safar tay kiya
aur abb aate hi jaane ki zid pakde baitha hai
laut sake meri zindagi se..isi firaaq mein hardum rehta hai
Kuch pal to chain ke mere mann mein guzaar..

Itna to waqt de ke tera saara saamaan apne mann se samet sakun
ek aakhri baar apni khushiyon ko..bhar nazar dekh sakun
Bus kuch aur waqt apna..mujhe tu de de udhaar..

Gin-ginkar le jaana tu apni har cheez
iss aane jaane ki jaldi mein..kahin tera kuch yahan chhoot na jaaye
wahi phir wapas lene ke bahaane..tu dobaara yahan laut na aaye
Isi bahaane..mujhe bhi karna padega..tera intezaar..

Abb na dungi tujhe lautne ka koi bahaana
aur khud ko tere intezaar ki koi wajah..

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *