Home / Hindi Shayari / Hindi Shayari – जब भी देखा / Jab bhi dekha

Hindi Shayari – जब भी देखा / Jab bhi dekha

/
/
/
78 Views

Hindi Shayari in Hindi

जब भी देखा उसे किसी और का होते हुए
तो हमने उसकी तरफ जाने वाला हर रास्ता मोड़ लिया
जुड़ते देखा उसका नाम किसी और के साथ
तो हमने उसका नाम लेना ही छोड़ दिया

पर ये मॅन है के झोली फैलाय
अब भी वही खड़ा है

भला इस मॅन को कौन समझाए
के वो टूटता तारा..किसी और की मन्नत का था..

 

Hindi Shayari in English

Jab bhi dekha use kisi aur ka hote hue
to humne uski taraf jaane waala har raasta mod liya
judte dekha uska naam kisi aur ke saath
to humne uska naam lena hi chhod diya

Pr ye mann hai ke jholi failaay
abb bhi wahi khada hai

Bhala iss mann ko kon samjhaaye
ke wo tootta taara..kisi aur ki mannat ka tha..

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *