Home / Hindi Shayari / Hindi Shayari – बहुत कुछ था रास्ते के पास / Bahut kuch tha raaste ke paas

Hindi Shayari – बहुत कुछ था रास्ते के पास / Bahut kuch tha raaste ke paas

/
/
/
25 Views

Hindi Shayari in Hindi

बहुत कुछ था रास्ते के पास मुझे देने को
मंज़िल तक पहुचते पहुचते..मेरी झोली अपने आप भर गयी

अब मंज़िल से मैं और क्या लेती..

मैने ही अपनी झोली से..मंज़िल को कुछ ऐसा दिया
जो अपनी जगह रह कर..उसे कभी हासिल ना होता

और देखो..देखते ही देखते
मैं मंज़िलों की मंज़िल बन गयी..

देखो ना..जिसे पाना चाहती थी मैं
उसी की आज ज़रूरत बन गयी..

 

Hindi Shayari in English

Bahut kuch tha raaste ke paas mujhe dene ko
manzil tak pahuchte pahuchte..meri jholi apne aap bhar gayi

Abb manzil se main aur kya leti..

Maine hi apni jholi se..manzil ko kuch aisa diya
jo apni jagah reh kar..use kabhi haasil na hota

Aur dekho..dekhte hi dekhte
main manzilon ki manzil ban gayi..

Dekho na..jise paana chaahti thi main
usi ki aaj zarurat ban gayi..

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *