Short Shayari in Hindi अक्सर खुदसे चुप-छाप मिलकर लौट जाती हूँ मैं अब्ब..खुदको कहाँ पहचानती हूँ बड़े दीनो बाद आईना देखा अपने चेहरे से..चेहरा हटाकर देखा Short…

Short Shayari in Hindi हर ख़याल की क़िस्मत नही हक़ीक़त बनना कुछ ख़याल..ख़यालों में ही हसीन होते हैं, खुली आँखों से कोई रिश्ता नही बनता उनका कुछ सपने…

Sad Shayari in Hindi गुम-सूम ही रहेंगी ये हमेशा की तरह ये आँखें..मेरी चाहत की कभी सफाई नही देंगी मैं जानती हूँ..इस बार भी मेरी आवाज़ तुझे छुयेगि…

बहुत कम आता है इनको संभालना तेरे सामने इनसे इज़हार-ए-मोहब्बत ना होगा इन्नहे चुप रहने ही दो.. जाते जाते ही जाएगा कुच्छ बचपाना अब भी बाकी है..इन…